Consult Jyotishguru Deepak Kapoor

at

Hyderabad - 21 December 2018

Mumbai - 10 January 2019

Call 9868463900

or send mail – info@jyotishguru.com


Saturday, December 8, 2018

Saturday 8th December 2018, Vedic Astrology Forecast, Rashiphal

आज 08 दिसम्बर 2018 है और शनिवार का दिन
श्री विक्रमी संवत 2075 है और शक संवत 1940
मार्गशीर्ष मास चल रहा है और शुक्ल पक्ष
प्रतिपदा तिथि है दोपहर 02 बजे तक और उसके बाद द्वितीया तिथि है
आज मूल नक्षत्र है दिन भर
चंद्रमा चल रहे है धनु राशि में और मार्तण्ड भैरव उत्सव आरम्भ हो रहे हैं.

मेष (Aries) अपने काम या कारोबार के प्रति थोडा और ध्यान देने की जरूरत पड़ेगी. हालात धीरे-धीरे आपको प्रोत्साहित करते चले जा रहे हैं, इसलिए उन उपलब्धियों की ओर नजर रखनी होगी जो आपके लिए बनती चली जा रही हैं. घर-परिवार में अपनों से जो भी मदद मिल रही है उसे शर्तों के बिना स्वीकार कर लें.
क्या करें – अपने बढ़ते हुए खर्चों पर काबू पाना होगा और किसी भी ऐसे काम में हाथ डालने से बचना होगा जिसमे आपकी जानकारी की कमी है. अपने ज्ञान और अपनी क्षमताओं को वैसे भी सुधारने की जरूरत पड़ेगी.
क्या न करें – रिश्तों के प्रति किसी भी तरह के तकरार की स्तिथि न बनने दें. अपने छोटे भाई-बहनों की बात को समझें की वो क्या चाह रहे हैं. किसी प्यार के रिश्ते में भी किसी बात को बढ़ा लेना इस समय ठीक नहीं होगा.

वृषभ (Taurus) मन की घबराहट इसलिए बनी हुई है क्योंकि आपको खुद पर भरोसा नहीं हो पा रहा इसलिए अपने आसपास आप कमियां ही ढूंढते चले जा रहे हैं. यहाँ तक की तकदीर को कसूरवार ठहराने में भी आप पीछे नहीं हट रहे.
क्या करें – अपने पैसे की स्तिथि को अपनों के लिए इस्तेमाल करना सीख लें और अपने कामकाज की स्तिथि को भी बेहतर करने के लिए भी अपनों की अच्छी सलाह मान लें, इससे आपको फायदा जरुर होगा और ज़िन्दगी के नए रास्ते खुलते चले जायेंगे.
क्या न करें – कामकाज से जुड़े जो दबाव झेलने पड़ रहे हैं उसके चलते दुखी न होते चले जाएँ, बल्कि उन कारणों को समझें जिस वजह से वो दबाव बने हुए हैं ताकि उन्हें संभाल लिया जाए. परेशान रहने की आदत बना लेना वैसे भी लाभदायक नहीं होता.

मिथुन (Gemini) लोगों के व्यवहार की वजह से आपका मन परेशान है. पीठ पीछे क्या हो रहा है इस बात को लेकर भी आप बहुत ज्यादा सोचते चले जा रहे है और यह भी किसी न किसी रूप से परेशानियों का कारण हो सकता है.
क्या करें – कामकाज से जुड़ी जो भी लोगों की नाराजगियां हैं उन्हें सम्भालना होगा और ऐसा करते हुए आपसे लोगों की क्या अपेक्षाएं हैं उन्हें भी पूरा करना होगा. निजी जीवन की खुशियाँ इसी बात पर निर्भर करेंगी की आप अपनी चुनोतियों को किस रूप से संभाल पाते हैं.
क्या न करें – कोई ऐसा खतरा मोल न लें जो आपके पैसे की स्तिथि को बिगाड़ता चला जाए. किसी ऐसे लेनदेन में भी न पड़ें जिसके चलते लोगों से मनमुटाव हो जाए. लोगों की आलोचना करने की आदत बिलकुल न बनायें.

कर्क (Cancer) लोगों से कोई ज्यादा उम्मीद लगाकर अपने मन को दुखी न करते चले जाएँ क्योंकि ऐसा करने से लोगों से विचार नहीं मिलेंगे और परेशानी बढती चली जाएगी. इस समय अपनी ज़िन्दगी का सुकून बनाये रखना ही ज्यादा जरूरी है.
क्या करें – रिश्तों की अच्छाई बनाए रखना बहुत जरूरी है. कोई प्यार का रिश्ता ऐसा है जिसे ध्यानपूर्वक सँभालने की जरूरत है. किसी भी विचार को आगे बढाने के लिए अपने बड़े बुजुर्गों के समर्थन की भी जरूरत पड़ेगी.
क्या न करें – अपने कामकाज को लेकर कोई ऐसी रुकावट न उभरने दे जो आपकी गलतियों से बनी हुई है इसलिए कोई भी फैसला करने से पहले भलीभांति समझ लें की आपसे कोई बड़ी गलती तो नहीं होती चली जा रही.

सिंह (Leo) अपनी सेहत का ध्यान रखना होगा और जरूरत पड़े तो जांच और इलाज़ भी कराना होगा. किसी भी बात को समय रहते संभाल लिया जाए तो परेशानियों से छुटकारा पाया जा सकता है.
क्या करें – रिश्तों का तानाबाना आपके लिए बहुत कठिन होता चला जा रहा है. किसी एक रिश्ते को सँभालने के लिए किसी और से समर्थन और सहायता लेनी पड़ सकती है और एक चीज़ का असर दूसरी चीज़ पर पड़ सकता है. पीठ पीछे भी बहुत कुछ ऐसा चल रहा है जिसके चलते आपकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं.
क्या न करें – रिश्तों के प्रति कोई ऐसी इच्छाएं न बढ़ाएं जो पूरी होने वाली नहीं है, इसलिए कोई ऐसा विचार भी न बनायें जिसके चलते कोई ग़लतफहमी पैदा हो जाए. लापरवाही से फैसला करना या अपने पैसे को कहीं फंसाते चले जाना इस समय ठीक नहीं होगा.

कन्या (Virgo) पैसे की स्तिथि ठीक होने के बावजूद आपका असंतोष नजर आ रहा है. ज्यादा पैसा जुटाने के प्रयास में आपसे गलतियाँ भी हो सकती हैं और आपकी मुश्किलें भी बढ़ सकती हैं इसलिए अपनी परिस्थिति से संतुष्ट होना होगा.
क्या करें – पारिवारिक खुशियाँ बनाये रखना सबसे बड़ी बात है. ऐसा करने से कामकाज में भी मन लगेगा और कुछ बेहतर करने का मौका भी मिलेगा. दूरस्थान के विकल्प टटोलने से पहले एक बार फिर सोच लेना होगा ताकि आप की ज़िन्दगी की दिशा सही बनी रहे.
क्या न करें – किसी प्यार के रिश्ते में ऐसी इच्छाएं न पालें जो आपकी पारिवारिक मुश्किलों को बढ़ा दे. आपके अपने क्या चाहते हैं और आपसे किस तरह की उम्मीद लगाये हुए हैं इस बारे में कोई गलती करना ठीक नहीं होगा.

तुला (Libra) ज़िन्दगी में सुख पाना है तो अपने मन में बहुत सारा धैर्य बनाये रखना होगा. आपकी अच्छाई इस रूप से बनी हुई है की आप हर चीज़ को सूझबूझ से समझने की कोशिश कर रहे हैं, ऐसे ही विचार बनाये रखने की जरूरत पड़ेगी.
क्या करें – अपने विचारों को लोगों तक इस रूप से पहुचाएं की उसमे आपकी सूझबूझ झलके और आपकी अच्छाई भी झलके. रिश्तों के प्रति अच्छाई बनाये रखने से ही ज़िन्दगी की बाकी चीज़ों को संभालना आसान हो पायेगा, इसलिए अपनों पर भरोसा करना भी सीख लें तब जाकर बात बनेगी.
क्या न करें – सिर्फ ऐसा न सोचते चले जाएँ की आप अपने दोस्तों से किस तरह का लाभ कमा पाएंगे. दोस्ती को पैसे से तोलने की कोशिश न करें. ऐसा करके दिलों के फासले पैदा करते चले जाना कभी भी ठीक नहीं होता.

आज के दिन में ख़ास – तुला राशि वालों के लिए आज के दिन में ख़ास यह है जी की घर-परिवार की खुशियाँ बहुत मायने रखती हैं और हर संभव कोशिश करनी होगी की आपसी ताल्लुकात बने रहें. हर परिस्थिति में अपनी सूझबूझ बनाये रखने से ही फायदा होगा.

वृश्चिक (Scorpio) कामकाज से जुड़े कई तरह के दबाव हैं पर उसी अनुपात में आपकी उपलब्धियां भी बनी हुई हैं, फिर भी अपनी कोशिशों को बहुत ऊंचे स्तर का बनाये रखना होगा ताकि आपकी ओर से कोई कमी न रहे. पर सबसे बड़ी बात यह है की अपने दम पर कुछ न कुछ करते रहने की कोशिश करनी होगी.
क्या करें – रिश्तों के प्रति आपकी अच्छाई बनी हुई है. आपके कामकाज से जुड़े कुछ ऐसे विकल्प भी हैं जिसमे आप किसी को पसंद करें. आप अपनों के प्रति समर्पित हैं और यही सबसे बड़ी बात है जिसके चलते ज़िन्दगी का तालमेल बना रहे.
क्या न करें – तकदीर को आजमाने के प्रयास में कोई ऐसा विचार न बनायें जो आपकी किसी स्तिथि को खतरे में डाल दे. लोगों को खुश करने के लिए अपना नुकसान भी न करते चले जाएँ. थोड़ी सी व्यवहारिकता अपना लें ताकि कोई आपका गलत फायदा न उठा जाए.

धनु (Sagittarius) हालात अच्छे-भले हैं लेकिन आपका मन फिर भी उन रुकावटों में उलझा हुआ है जो इस समय बनी हुई हैं. ऐसे में धैर्य बनाये रखना बहुत जरूरी होता है ताकि आप कोई ऐसी बात न कहे जो गलतफहमी पैदा करे.
क्या करें – ज़िन्दगी की परिस्थितियों से झूझना ही पड़ता है. कभी-कभी अपने हालात से समझोता भी करना पड़ता है पर ऐसे में बचाव का माहोल बनाये रखना बहुत जरूरी है ताकि हालात सम्भले रहें. कोई भी कदम उठाने से पहले एक बार फिर सोच लें.
क्या न करें – ज़िन्दगी में अपनी मेहनत से आगे बढने का जो भी मौका मिले उसे हाथ से न जाने दें, इसलिए अपनी परिस्थितियों को समझने में कोई कमी न रखें. हालात कभी भी किसी के लिए आसान नहीं होते लेकिन थोड़ी सी तवज्जो बनाये रखने से उन्हें आसान बनाया जा सकता है.

मकर (Capricorn) किसी भी तरह का खर्चा या नुकसान आपके मन को भटका सकता है और आपके असंतोष को बढ़ा सकता है. इस समय का सबसे बड़ा कारण यही है की आपको अपने विचारों में भी और अपनी बातों में भी बहुत सारी विनम्रता बरतनी होगी. अपनी अच्छी-भली कामकाज की स्तिथि को बनाए रखना भी आपका कर्तव्य होगा.
क्या करें – पैसे की स्तिथि भी ठीक है और हालात भी मददगार हैं, फिर भी बहुत कुछ ऐसा है जिसे शान्ति से संभाले रखने की जरूरत है. मन में धैर्य बना रहे तो किसी भी चुनोती को समझना और संभालना आसान ही हो जाता है.
क्या न करें – अपने मन में कोई ऐसा विचार न बनायें जो गलतफ़हमी पैदा करता चला जाए और अपनों से दूर करता चला जाए. मानसिक शान्ति बनाये रखना इस समय बहुत जरूरी होगा ताकि लोगों से किसी भी वजह से फासले न बढ़ते चले जाएँ.

कुम्भ (Aquarius) जब भी इंसान के मन में ऐसा आभास हो की नुकसान हो रहा है तो और भी ज्यादा सतर्क हो जाना चाहिए और नुकसान का मतलब नुकसान नहीं है. जब भी कोई चीज़ अच्छी नहीं लग रही तो ऐसी संभावनाएं बन जाती हैं जो परेशानी में डालती चली जाएँ
क्या करें - इस समय आपकी मानसिकता कुछ ऐसा ही कह रही हैं की अपनी परिस्थितियों को सूझबूझ से संभाल लें. कम से कम आपको इस बात का आभास होता चला जा रहा है की बहुत कुछ करना पड़ेगा ताकि ज़िन्दगी की  स्थिरता और सुकून बना रहे
क्या न करें – किसी ऐसे विचार को न बढ़ाएं जो सिर्फ पैसे को जुटाने के विचार से बना हुआ हो और इसलिए किसी भी तरह के लेनदेन में कोई गलती न करें. कहीं ऐसा न हो की कोई आपका गलत फायदा उठाये और उसका नुकसान आपको झेलना पड़े.

मीन (Pisces) कामकाज से जुड़ा असंतोष नजर आ रहा है क्योंकि आपने कई ऐसे कदम उठायें हैं जिन्हें संभलकर उठाने की जरूरत थी. कोई भी चीज़ अगर आर्थिक दबाव को बढाती चली जाए तो उससे भी बचने की जरूरत पड़ती ही है.
क्या करें – पारिवारिक परिस्थितियों को भलीभांति समझने के लिए अपने कामकाज की स्तिथि को और सुदृद करना होगा और ऐसे में अगर किसी भी तरह का मनमुटाव है तो उसे भी समय रहते संभाल लेना होगा. लोगों के विचारों की वजह से कोई न कोई तकरार बना रह सकता है जिसे संभाले रखने की जरूरत है.

क्या न करें – कामकाज को मज़बूत करना है तो अपने ज्ञान और अपनी जानकारी को बढाने में कोई कमी न रखें. वैसे भी कोई ऐसा बड़ा कदम न उठायें जिसके चलते ज़िन्दगी की बाकी चीज़ों पर उसका बुरा असर पड़े.

No comments:

Post a Comment

Please do not post any message with links. It will not be approved.