Consult

Jyotishguru Deepak Kapoor

at

Gurgaon

Send SMS to 9868463900

Giving your name

&

mobile number

Monday, September 30, 2019

Monday 30th September 2019, Vedic Astrology Forecast, Rashiphal

आज 30 सितम्बर 2019 है और सोमवार का दिन
श्री विक्रमी संवत 2076 है और शक संवत 1941
अश्विन मास चल रहा है और शुक्ल पक्ष
द्वितीया तिथि है शाम 04 बजकर 49 मिनट तक और उसके बाद तृतीया तिथि है.
चित्रा नक्षत्र है शाम 04 बजकर 29 मिनट तक और उसके बाद स्वाति नक्षत्र है.
चंद्रमा चल रहे हैं तुला राशि में.

ब्रह्मचारिणी मां दुर्गा का दूसरा स्वरूप है
नवरात्र के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा-अर्चना की जाती है। ब्रह्म का अर्थ है तपस्या और चारिणी का अर्थ है  आचरण करने वाली। इस प्रकार ब्रह्मचारिणी का अर्थ हुआ तप का आचरण करने वाली।
पूर्वजन्म में इस देवी ने हिमालय के घर पुत्री रूप में जन्म लिया था.मां ब्रह्मचारिणी ने भगवान शंकर को पति रूप में प्राप्त करने के लिए घोर तपस्या की थी। इस कठिन तपस्या के कारण इस देवी को ब्रह्मचारिणी नाम से जाना जाता है. मां दुर्गा का यह स्वरूप भक्तों और सिद्धों को अनंत फल देने वाला है। इनकी उपासना से तप, त्याग, वैराग्य, सदाचार और संयम की वृद्धि होती है।  इस देवी के दाएं हाथ में जप की माला है और बाएं हाथ में यह कमण्डल धारण किए हैं।

मां ब्रह्मचारिणी देवी की कृपा से सर्वसिद्धि प्राप्त होती है। इस देवी की कथा का सार यह है कि जीवन के कठिन संघर्षों में भी मन विचलित नहीं होना चाहिए।

मेष (Aries) आप लोगों की सहायता भी करना चाह रहे हैं पर उनकी आलोचना भी कर रहे हैं. एक तरह अच्छाई बनाने का प्रयास बहुत है दूसरी ओर अपनी ही मुश्किलों को बढ़ावा देते चले जा रहे हैं और यही ठीक नहीं है, इसलिए अपने आलोचनात्मक रेवेये को थाम लेने की जरूरत है.
क्या करें – जो भी नए विचार आपके मन में उभर रहे हैं उन्हें थाम लेने की जरूरत है क्योंकि उन्हें बढ़ावा देने से शायद अपनी उम्मीदों को पूरा करने में कोई न कोई कमी रह जाए इसलिए रिश्तों के प्रति सहजता अपनानी होगी और आपसी तालमेल से चलना होगा.
क्या न करें – अपने कामकाज को बढ़ावा देना है तो अपनी कोशिशों को किसी भी तरह की शक की नजर से न देखें. यह समय आपकी अच्छाई भी दिखा रहा है और आपसे बहुत कुछ करवा सकता है और आपको बहुत कुछ दे सकता है, इसलिए इस समय से जुड़ी हुई प्राथमिकताओं को समझने में कोई गलती न करें.
उपाय – मेष राशि वालों के लिए ख़ास उपाय यह है जी की आने वाले चार मंगलवार को किसी भी मंदिर या पूजा स्थल में जाएँ और वहां पर थोडा सा समय व्यतीत कर लें. मंदिर में हनुमान जी की मूर्ती के आगे माथा टेक लें ताकि अपने मन में बढ़ते हुए रोष को थमने में मदद मिल जाए.

वृषभ (Taurus) मन में बढाई हुई परेशानियों का एक असर यह होगा की आप दिशाहीन होते चले जाएँ और आपके प्रदर्शन में कमी आती चली जायेगी इसलिए अपनी ओर से बहुत सारी एकाग्रता बनाए रखने की जरूरत पड़ेगी.
क्या करें – रिश्तों के प्रति आप समर्पित है और अपनों के करीब भी आना चाह रहे हैं, पर वो सबकुछ नहीं हो पा रहा जैसे की आप उम्मीद लगा रहे हैं. इस प्रयास में आपके अपनों का सहयोग भी बना रहेगा पर किसी प्यार के रिश्ते में भरोसा बनाये रखने की भी जरूरत पड़ेगी. अपने मन को उचाट करते चले जाने से भी बचना होगा.
क्या न करें – कुछ भी ऐसा न करें जिससे कोई ग़लतफहमी पैदा होती चली जाए. किसी भी काम को अंजाम देने के लिए आपके विचार अच्छे हैं पर कोशिशों में भटकाव बहुत है. ऐसे में अपनी मेहनत को दिशाहीन बनाकर बिखरते चले जाना भी ठीक नहीं है.

मिथुन (Gemini) पैसे की स्तिथि ठीक है और पैसे को आप सही दिशा में लगाना चाह रहे हैं जिसके चलते किसी न किसी निवेश का विचार भी हो सकता है आपके मन में. ऐसा आप इसलिए भी करना चाह रहे हैं की आप अपने बच्चों को ऐसा माहोल दे पायें जो उनकी अच्छी परवरिश में आपकी मदद करे.
क्या करें – घर-परिवार की खुशियों को बनाये रखने का समय है पर उसके लिए आपको बहुत सारी मेहनत करनी होगी. पुरानी बातों को भुलाकर अपनों से जुड़े रहेंगे तो ज़िन्दगी का रास्ता खुशगवार बनता चला जाएगा.
क्या न करें – अपनी आर्थिक स्तिथि को बेहतर करने के लिए जो भी विकल्प उभर रहे हैं उन्हें जाया न जाने दें. कामकाज की स्तिथि अभी भी चुनोती भरी बनी हुई है पर अपनी कोशिशों को बढाकर उनमें भी धीरे-धीरे सुधार लाया जा सकता है इसलिए कोई कमी भी नहीं है.

कर्क (Cancer) काम के प्रति प्रेरणा बनाए रखेंगे तो आपकी आर्थिक स्तिथि सुधरती चली जायेगी और घर-परिवार की खुशियाँ लौट आएँगी, इसलिए हर चीज़ सही दिशा में और सही रफ़्तार से चल रही है जो आपको मदद करे.
क्या करें – अपनों की अच्छी सलाह को भलीभांति समझना होगा ताकि उस वजह से भी आपके फैसले सही होते चले जाएँ. किसी भी तरह की उत्तेजना के तहत फैसले करने से बचना होगा.
क्या न करें – किसी भी कारणवश अपना नुकसान न करें. यहाँ तक की लोगों को खुश करने के लिए भी इतनी उदारता न दिखाएँ की व्यर्थ में आप ही का नुकसान होता चला जाए.

सिंह (Leo) भाग्यशाली समय है क्योंकि कामकाज की स्तिथि आपकी इच्छाओं के अनुरूप चल रही है. जो भी नए विकल्प हाल में खुले हैं उन्होंने भी आपकी मेहनत को बढाने में हर तरह से अपना योगदान दिया है.
क्या करें – हो सकता है आपको अपने कामकाज की स्तिथि मध्यम लगे, पर उसमें सुधार लाने के लिए अपनी मेहनत को भी बढ़ाना ही पड़ेगा. ऐसे में परिस्थितियां आपकी हर तरह से मदद करती चली जाएंगी ऐसा ही कहते हैं आपके तारे.
क्या न करें – किसी यात्रा या बदलाव से जुड़े फैसले ज़ल्दबाज़ी में बिलकुल न लें. कहीं ऐसा न हो की उसका बुरा असर आपकी आर्थिक स्तिथि पर पड़ता चला जाए.

कन्या (Virgo) कई तरह की चुनोतियाँ हैं आपके सामने पर फिर भी हालात आपकी मदद ही करना चाह रहे हैं. किसी भी मुश्किल भरे समय में हो सकता है लोग भी आपके खिलाफ होते चले जाएँ फिर भी लोगों से संवाद बनाये रखने की जरूरत है.
क्या करें – कई तरह के अच्छे मौके हो सकते हैं आपके सामने लेकिन फैसला करने से पहले थोड़ा सा रुक जाएँ और बेहतर समय का इंतज़ार कर लें, और उस बेहतर समय में आपकी आर्थिक स्तिथि में बड़ा इजाफा हो सकता है और वो समय भी बहुत नजदीक आ रहा है.
क्या न करें – कामकाज को सिर्फ लाभ की नजर से न देखें, बल्कि इस रूप से देखें की उसमें आप काम को सुदृढ़ बनाने की दिशा में कितनी कोशिश कर सकते हैं और यही कोशिश आपको बड़े लाभ की ओर भी ले जा सकती है, इसलिए किसी भी चीज़ को कमी की नजर से देखना भी ठीक नहीं है.

तुला (Libra) आर्थिक स्तिथि ठीक होने का यह मतलब नहीं है की अपनी आर्थिक स्तिथि को आप कमज़ोर करते चले जाएँ. रोज़मर्रा की परेशानियाँ भी आपके दबाव बढ़ा सकती हैं, इसलिए भी अपने पैसे को संभाले रखने की जरूरत है.
क्या करें – छोटी-छोटी मुश्किलें भी इंसान को परेशान कर सकती हैं, इसलिए हर कदम बढाने से पहले थोड़ा सा मनन करना होगा ताकि अपने हालात को भलीभांति समझा जा सके. किसी भी तरह का एकतरफा विचार बनाते चले जाने से भी बचना होगा.
क्या न करें – कोई ऐसा जोखिम न उठायें जिसमें आपका पैसा कहीं फंसता चला जाए. काम के प्रति आपका समर्पण भी अच्छा है और हालात भी मददगार हैं, पर फिर भी कोई खतरा मोल लेते चले जाना भी ठीक नहीं है.

वृश्चिक (Scorpio) अपने खर्चों को बढ़ाकर अपने लिए नुकसान की स्तिथि पैदा करते चले जाना ठीक नहीं है क्योंकि ऐसा करने से फिर आपको अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए पैसा जुटाना पड़ सकता है और यह सबसे बड़ी परेशानी का कारण हो सकता है.
क्या करें – क्योंकि लाभ बना हुआ है इसलिए कुछ खर्चे भी आप अपनी ख़ुशी से करते चले जा रहे हैं, फिर भी किसी ऐसी स्तिथि से बचना होगा जो आपकी मुश्किलों को बढाती चली जाए, इसलिए अपने बढ़ते हुए खर्चों पर भी लगाम देने की जरूरत पड़ेगी.
क्या न करें – किसी ग़लतफहमी की वजह से कोई ऐसा कदम न उठा लें जिससे आपकी मुश्किलें बढती चली जाएँ. वैसे भी यह समय कुछ ऐसा है जिसमें धैर्य बनाये रखना बहुत जरूरी है. अपने रोष को बढाकर अपने लिए मुसीबतों को बुलावा देते चले जाना भी ठीक नहीं है.

धनु (Sagittarius) आप किसी बड़े परिवर्तन का विचार बना रहे हैं, इसलिए अपनी अच्छी-भली स्तिथि को भी खतरे में डालते चले जा रहे हैं. कोई भी नया विकल्प आपको बहुत अच्छा लग सकता है पर उसके पीछे भी छुपी हुई बहुत सारी चुनोतियाँ हो सकती हैं.
क्या करें – काम में पैसा लगाने की जरूरत पड़ेगी और अपनी मेहनत को भी बढाने की जरूरत पड़ेगी, इसलिए अपनी आर्थिक स्तिथि पर नजर रखनी होगी. बढती हुई जिम्मेदारियों की वजह से भी पैसा जुटाना पड़ सकता है.
क्या न करें – लाभ की स्तिथि बनी हुई है और अचानक धनलाभ भी हो सकता है, पर बढती हुई जरूरतों के सामने किसी भी तरह की आर्थिक स्तिथि कमज़ोर पड़ सकती है, इसलिए कोई ऐसा कदम न उठायें जो आपके लिए नुकसान का कारण बनता चला जाए.

मकर (Capricorn) हालात हर तरह से मददगार हैं. जो लोग पहले आपके खिलाफ थे अब वो भी आपकी तरफदारी करना चाह रहे हैं पर आप इस अच्छाई को पूरी तरह से समझ नहीं पा रहे और आप की ओर से फैसलों में कमियां बनी रह सकती है जिस ओर ध्यान देना होगा.
क्या करें – हालात हो सकता है आपको मध्यम लगे पर फिर भी बहुत बड़ा आशीर्वाद है आपके साथ जुड़ा हुआ, जिस वजह से तकदीर आपका पूरा साथ निभा रही हैं. लोगों की भी अच्छी भूमिका बनी हुई है की वो आपकी हर तरह से मदद करते चले जाएँ.
क्या न करें – अपने बढ़ते हुए खर्चों को पूरा करने के लिए बहुत ज्यादा पैसा जुटाने की कोशिश न करें, क्योंकि वो भी एक तरह का नुकसान का कारण बन जाता है ऐसे समय में पैसा भी उतना ही होना चाहिए जितने की जरूरत है. किसी के प्रति जरूरत से ज्यादा उदारता दिखाते चले जाना भी ठीक नहीं है.

कुम्भ (Aquarius) कामकाज से जुड़े कई तरह के दबाव हैं आपके सामने और लोगों की आलोचना भी सहनी पड़ सकती है. घर-परिवार की खुशियों को बनाए रखने के लिए भी अपनों के लिए समय निकालना होगा. कामकाज की व्यस्तता के कारण ऐसा करना कठिन भी हो सकता है.
क्या करें – हालात को आजमाना और उसकी वजह से अपने लिए परेशानियाँ बढाते चले जाना आपकी गलती होगी, इसलिए हर ऐसे मुद्दे को एक-एक करके सँभालने की कोशिश करनी होगी जो आपके लिए दबाव बढ़ा रहा है, और यह सबकुछ अपनी कोशिशों को सही देने से ही संभव हो पायेगा.
क्या न करें – किसी भी तरह की घबराहट के तहत ऐसा न सोचना शुरू कर दें की हर कोई आपके खिलाफ है और ऐसा करके आप अपने मन को दुखी भी न करते चले जाएँ. यह मुश्किल भरा समय जरूर है पर ऐसे में अपने मन में घबराहट पैदा करते चले जाना भी ठीक नहीं है.

मीन (Pisces) हालात को बेहतर करने के लिए कई तरह की चुनोतियों से झूझना पड़ सकता है पर पैसे की स्तिथि आपकी मदद करती चली जाए यह भी बहुत हद तक संभव है, इसलिए उस अच्छाई की ओर भी देखें जो चुनोतियों के साथ ही साथ बनी हुई है.
क्या करें – अपनी मेहनत को बहुत ऊंचे स्तर तक ले जाएँ ताकि आपकी मुश्किलें खुद-ब-खुद संभलती चली जाएँ. अपने प्रदर्शन पर भरोसा रखें, तभी लोग आपकी अच्छाई को समझ पाएंगे और आपकी मदद कर पाएंगे. लोगों की आलोचना की वजह से अपने अंदर अविश्वास की भावना लाते चले जाने से भी बचना होगा.

क्या न करें – किसी प्यार के रिश्ते की वजह से घर-परिवार की खुशियों को बर्बाद न करते चले जाएँ, क्योंकि किसी प्यार के रिश्ते को बढ़ावा देने का यह समय अच्छा नहीं और उस वजह से अपनों से दूरियों बनाते चले जाना और भी खराब है.

Sunday, September 29, 2019

Sunday 29th September 2019, Vedic Astrology Forecast, Rashiphal

आज 29 सितम्बर 2019 है और रविवार का दिन
श्री विक्रमी संवत 2076 है और शक संवत 1941
अश्विन मास चल रहा है और शुक्ल पक्ष
प्रतिपदा तिथि है शाम 08 बजकर 14 मिनट तक और उसके बाद द्वितिया तिथि है.
हस्त नक्षत्र है शाम 07 बजकर 06 मिनट तक और उसके बाद चित्रा नक्षत्र है.
चंद्रमा चल रहे हैं कन्या राशी में और चंद्रमा तुला राशी में प्रवेश करेंगे देर रात 04 बजकर 45 मिनट पर.
आज शारदीय नवरात्रे आरम्भ हो रहे है. घट स्थापन है. मातामयी का श्राद्ध है. बुध तुला राशी में प्रवेश कर रहे हैं दोपहर 12 बजकर 55 मिनट पे और अग्रसेन जयंती है.

दुर्गा माता के नौ रूप  हैं। माता दुर्गा पहले स्वरूप में 'शैलपुत्री' के नाम से जानी जाती हैं। नवरात्र-पूजन के पहले दिन इन्हीं की पूजा और उपासना की जाती है।
शैलपुत्री का वाहन वृषभ है। दाएं हाथ में त्रिशूल धारण कर रखा है और बाएं हाथ में कमल सुशोभित है।
एक बार जब प्रजापति ने यज्ञ किया तो इसमें सारे देवताओं को निमंत्रित किया, लेकिन भगवान शंकर को आमंत्रित नहीं किया। सती यज्ञ में जाने के लिए व्याकुल हो उठीं। शंकरजी ने कहा कि सारे देवताओं को निमंत्रित किया गया है, उन्हें नहीं। ऐसे में वहां जाना उचित नहीं है।
सती का प्रबल आग्रह देखकर शंकरजी ने उन्हें यज्ञ में जाने की अनुमति दे दी। भगवान शंकर का सब ने उपहास किया और राजा दक्ष ने भी उनके प्रति अपमानजनक शब्द कहे। इससे सती को बहुत दुःख हुआ।  वे अपने पति का यह अपमान सह न सकीं और योगाग्नि में खुद को जलाकर भस्म कर लिया।
इस दुख से व्यथित होकर शंकर भगवान ने उस यज्ञ का विध्वंस करा दिया। यही सती अगले जन्म में शैलराज हिमालय की पुत्री के रूप में जन्मीं और शैलपुत्री कहलाईं। शैलपुत्री का विवाह भी भगवान शंकर से हुआ। शैलपुत्री शिवजी की अर्द्धांगिनी बनीं। इनका महत्व और शक्ति अनंत है। पार्वती और हेमवती भी इसी देवी के अन्य नाम हैं।

मेष (Aries) घर-परिवार में विचारों के मतभेद के एक वजह यह हो सकती है कि आप लोगों की आलोचना कर रहे हैं और लोगों से जुड़ नहीं पा रहें. लोगों में कमियां हो सकती हैं उतनी जितनी की हर व्यक्ति में होती है लेकिन इस समय आपकी गलतियां ज्यादा नजर आ रही हैं.
क्या करें – कामकाज के प्रति अपनी लगन बनाए रखनी है तो भरोसा भी बनाए रखना होगा और कामकाज के क्षेत्र में भी अपने साथी-सहयोगियों से रिश्तों को संवारना होगा क्योंकि तकदीर की भूमिका मध्यम हो सकती है इसलिए अपनी कोशिशों को सही दिशा देनी होगी.
क्या न करें – एक साथ बहुत सारी चीजों में हाथ डालने की कोशिश न करें क्योंकि ऐसा करने से आपकी एकाग्रता में कमी होती चली जाएगी और इस समय वही ठीक नहीं.

वृषभ (Taurus)किसी प्यार के रिश्ते को लुभाने के लिए आपका मन भी है और आपकी कोशिशें भी बढ़ी हैं और यही कोशिशें आपको सफलता के कगार तक ले जा सकती हैं जिसमें आप किसी का दिल जीत सके.
क्या करें –लोग आपको क्या कहें और आपके बारे में किस रूप से सोचें, शायद यह सबकुछ आपको बुरा लगता चला जाए और हो सकता है यह भी लगे आपको कि लोग आपकी पीठ पीछे बुराई कर रहे हैं पर ऐसे ही नकारात्मक विचारों को हटा देने की जरूरत है.
क्या न करें –रिश्तों की गरीमा को बनाए रखना है तो किसी से भी कोई चुभती हुई बात बिल्कुल न कहें. अपने मन में पहले से कोई ऐसा विचार न बनाएं जो आपके अच्छे भले रिश्तों को कमजोर करता चला जाए.

मिथुन (Gemini)किसी अच्छे निवेश का विचार बन सकता है. उसे आप सपनों का ऐसा घर बनाना चाह रहे हैं जिसके लिए आपने बहुत समय से सपने संजोए हैं, ऐसे किसी प्रयास को बढ़ावा देने के लिए हो सकता है आपकोअपनों का समर्थन न मिल पाए फिर भी आपके विचार अच्छे हैं और उन्हें आगे बढ़ाया जा सकता है.
क्या करें –यह समय ही कुछ ऐसा है जिसमे कई सारी रूकावटें हो सकती हैं और कई सारी परेशानियां भी उभरसकती है फिर भी लोगों के प्रति अपनी अच्छाई बनाए रखना ही जरूरी है, इसको अंजाम देने के लिए भरोसा तो बनाना ही पड़ेगा.
क्या न करें –अपनी इच्छओं को पूरा करने की कोशिश जरूर करें पर अपनों की इच्छाओं को नजरअंदाज न करें. रिश्तों के प्रति भरोसा बनाए रखने से जिंदगी की खुशियां बनी रह सकती हैं इसलिए किसी को भी शक की निगाह से बिल्कुल न देखें.

कर्क (Cancer)अपनी कोशिशों को बढ़ावा देने से बेहतर कोई अच्छा विकल्प हो ही नहीं सकता क्योंकि यह समय कुछ ऐसा है जो आपकी कार्यक्षमताओं को उजागर कर सकता है. जरूरी नहीं है कि हर परिस्थिति में लोग आपको समझ ही पाएं फिर भी अपने चुने हुए रास्ते पे आगे बढ़ते चले जाना जरूरी है.
क्या करें –विचारों के मतभेद कठिनाईयां पैदा कर सकते हैं जिसकी वजह से लोग आपके खिलाफ हो जाएं. खुद पे भरोसा हो तो किसी भी कठिनाई को अपनी मेहनत से संभालना आसान ही होता है.
क्या न करें –किसी ऐसे परिवर्तन का न सोचें जिसकी आपको पूरी जानकारी नहीं पर ऐसे में अपने मन को उचाट भी न करते चले जाएं. अपनी अच्छी-भली आर्थिक स्थिति को किसी भी वजह से कमजोर करते चले जाना भी ठीक नहीं.

सिंह (Leo)हालात हर तरह से सुखद बने हुए हैं पर आपकी उत्तजेना आपकी आर्थिक स्थिति पे बुरा असर डाल  सकती है इसलिए अपने फैसले बहुत ध्यानपूर्वक और बहुत संयम से ही करने होंगे. कोई भी बड़ा कदम उठाने से पहले एक बार फिर सोच लेने की जरूरत पड़ेगी.
क्या करें –किसी प्यार के रिश्ते पे भरोसा करेंगे तो आपकी जिंदगी की खुशियों में इजाफा होगा, अपनी बात धैर्य से कहेंगे तो वो बात भली-भाँति समझी भी जाएगी. ऐसे में हालात आपकी हर तरह से मदद करेंगे, ऐसा ही कहते हैं आपके तारें.
क्या न करें –अपनी बचत को बढ़ावा देने में किसी भी तरह की कमी न आने दें इसलिए सही योजना बना लें और उस रास्ते पर चलते जाएं जो आपने एक बार चुन लिया है. लोगों की बातों में आकर अपनी जिंदगी की खुशियों को कमजोर करते चले जाना भी ठीक नहीं.

आने वाले 1 सप्ताह के लिए उपायसिंह राशी वालों के लिए आने वाले 1 सप्ताह के लिए खास उपाय यह है जी कि हर रोज किसी शिव मंदिर में जाएं और माथा टेक लें. अपनी उत्तेजना से बचने के लिए और अपने धैर्य को बनाए रखने के लिए यह आसान सा उपाय आपकी मदद जरूर करेगा. 

कन्या (Virgo)आर्थिक स्थिति ठीक है क्योंकि आपकी आमदनी आपकी अपनी मेहनत से बनी हुई है. जिस भी काम से इंसान की लगन बनी हुई होउसमें लाभ प्राप्त करना आसान हो जाता है.
क्या करें –घर-परिवार की खुशियों को बनाए रखने के लिए अपने दिल को बहुत बड़ा करना होगा और लोगों के लिए बहुत कुछ करने की जरूरत पड़ेगी. अपनी इच्छाओं से बढ़कर अपनों की इच्छाओं को पूरा करेंगे तो जिंदगी की खुशियां बनी रहेंगी.
क्या न करें –अपने काम या कारोबार में इतना भी व्यस्त न हो जाएं कि रिश्तों की स्थिति कमजोर पड़ती चली जाए. हर सूरत में रिश्तों पे भरोसा तो करना ही पड़ता है. रिश्तों से बढ़के पैसे को प्राथमिकता देते चले जाना भी ठीक नहीं.

तुला (Libra)कहने को तो बहुत सारे हालात संभले हुए हैं पर हर चीज जैसे बिखरती चली जा रही है इसलिए हर कदम ध्यानपूर्वक उठाने की जरूरत है. अंजाने में भी कोई नुकसान होता चला जाए तो वो आपके हित में नहीं.
क्या करें –आपकी क्षमताएं भरपूर है, उन्हें अपने भरोसे से बढ़ाया भी जा सकता है और अपनी मेहनत से बहुत कुछ हासिल भी किया जा सकता है पर जरूरत इस समय यह है कि अपनी उपलब्धियों को सहेज लिया जाए.
क्या न करें –कोई ऐसा बड़ा कदम न उठाएं जिसको लेके बाद में पछताना पड़े इसलिए व्यर्थ में अपनी उत्तेजना को बढ़ाते न चले जाएं. हालात तेजी से बदल रहे हैं और आने वाले सप्ताह में आपके लिए किसी भी तरह की कमी नहीं रहेगी.

वृश्चिक (Scorpio)भाग्यशाली परिस्थितियां बनी हुई हैं पर उन्हें बनाए रखने की कोशिश करनी होगी. काम से लाभ भी बना हुआ है पर उस लाभ को भी सही दिशा में लगाना होगा पर उसके लिए सही योजना बनाने की भी जरूरत पड़ेगी.
क्या करें –जिंदगी में बहुत कुछ ऐसा होता है जिसकी वजह से आप परेशान हो जाएं, किसी भी ऐसे इम्तहान की घड़ी में अपना धैर्य बनाए रखना बहुत जरूरी होता है इसलिए आपको अपनी ओर से बहुत सारी विनम्रता बनाए रखनी होगी. आपकी ओर से थोड़ी सी कोशिश बनी रहेगी तो हालात भी आपकी मदद जरूर करेंगे.
क्या न करें –कुछ समय से आपके लिए हर तरह का धन लाभ बना रहा है पर इस सप्ताह में अपने लाभ को बिखेरते न चले जाएं इसलिए कोई भी बड़ा कदम उठाने से पहले रूक जाएं ताकि जल्दबाजी में लिए गए फैसलों से किसी भी तरह का नुकसान न हो.

धनु (Sagittarius)कामकाज के क्षेत्र में कई तरह के दबाव झेलने पड़ सकते हैं पर अगर आप अपने मन में शांति बनाए रखेंगे तो कई तरह की चुनौतियां खुद-ब-खुद संभलती चली जाएगी. परेशानी यह है कि आप बिना सोचे-समझे कोई न कोई कदम उठाना चाह रहे हैं.
क्या करें –किसी भी अच्छे विकल्प को अंजाम देने से पहले थोड़ा सा रूक जाना होगा और थोड़ा सा मनन कर लेना होगा. तेजी से बदलता हुआ समय है जो धीरे-धीरे आपके भरोसे को भी बढ़ाता चला जाएगा इसलिए फिलहाल अपनी मेहनत को बनाए रखना ही ज्यादा जरूरी होगा.
क्या न करें –कामकाज को बढ़ावा देने के लिए आपने बहुत सारी मेहनत की है अब उस काम से बड़ा लाभ मिलने का समय बनता चला जा रहा है, ऐसे में कोई बड़ा कदम उठाके अपने नुकसान को बढ़ाते चले जाना भी ठीक नहीं.

मकर (Capricorn)लोगों की सहायता से भी आपके हालात बेहतर होते चले जा रहे हैं. धन का आगमन ठीक है पर पैसे से जुड़े फैसलों को फिर भी ध्यानपूर्वक लेना होगा.
क्या करें –हो सकता है पीठ पीछे कोई आपका नुकसान करना चाह रहा हो पर इस समय की अच्छाई को समझें जो आपको हर तरह से बचाए हुए है, इस बचाव के बावजूद आपको अपने नुकसान पे नजर रखनी है.
क्या न करे –कामकाज की स्थिति भाग्यशाली रूप से संवरती चली जाए, ऐसा हो सकता है इसलिए अपनी कोशिशों को सही दिशा देनी होगी. कुछ भी सीखने से अपने ज्ञान को बढ़ाया जा सकता है, इस प्रयास में किसी भी तरह की कमी रखना ठीक नहीं.

कुंभ (Aquarius)मन की उथल-पुथल इंसान को परेशान ही करती है जबकि यह समय आपकी सूझबूझ भी दिखा रहा है जिसके चलते आप कामकाज से जुड़े दबाव को भली-भाँति झेल सके.
क्या करें –जिंदगी की चुनौतिया दबे पाँव आ जाती है पर खर्चों के बढ़ जाने से भी नुकसान होता है इसलिए हर बात की तह तक पहुँचना होगा ताकि अपनी स्थिति को सुचारू रूप से संभाला जा सके.
क्या न करें –रिश्तों से जुड़े दबाव धीरे-धीरे ही संभलेंगे पर इस सप्ताह में बहुत कुछ ऐसा होता चला जाएगा जो आपके भरोसे को फिर से जगाना शुरू कर दे इसलिए अपने हालात में लगातार कमियां निकालते चले जाना भी ठीक नहीं.

मीन (Pisces)कोई प्यार का रिश्ता आपको लुभा रहा है और आपके अपनों का साथ भी बना हुआ है पर हो सकता है इस अच्छाई में बहुत जल्द कोई न कोई कमी आ जाए और अच्छी-भली स्थिति बिगड़ती चली जाए.
क्या करें –इस समय की प्राथमिकताओं को समझें जो आपके कामकाज की ओर इशारा कर रही है. अब समय ऐसा बन रहा है जिसमे रिश्तों को लेके थोड़ा सा रूक जाने की जरूरत है, सही समय का इंतजार किया जा सकता है.

क्या न करें –निजी जीवन में किसी भी छोटी बात को व्यर्थ में बिगाड़ते न चले जाएं इसलिए कुछ भी ऐसा न होने दें जो लोगों को आपके खिलाफ सोचना पड़े. लोगों की गलतियां न निकालें बल्कि अपना धैर्य बनाए रखें.