Consult

JyotishGuru Deepak Kapoor

at Mumbai

on 9th August 2017.
Limited Appointments

Call +91-9868463900 NOW !!!!

Friday, October 21, 2016

Friday 21st October 2016, Vedic Astrology Forecasts, Rashi Phal

मेष (Aries) अपने ही विचारों के प्रति मन में अविश्वास बना रहे हैं. इसी के चलते आपकी मेहनत में कमी आ सकती है. कोशिश करने से ही अपने मन से अपनी चिंताओं को हटा पायेंगे.
क्या करें – जो भी मतभेद रहे हैं अब उन्हें दूर करने का समय आ गया है. अगर कोई लिखित दस्तावेज आपकी परेशानी का सबब बन रहे हैं तो अब वो मसले भी सुलझ जायेंगे. अपनो से सहायता भी ले लें बात बन जायेगी.
क्या न करें – ज़िन्दगी की चुनोतियों को अपने ऊपर इतना न हावी कर लें की आप परेशान हो जाएँ. हर बात को निराशा के नजरिये से बिलकुल न देखें. किसी प्यार के रिश्ते को बहुत ज्यादा push करने की कोशिश न करें.

वृषभ (Taurus) घर-परिवार की चिन्ताएं बनी रहेंगी जिन्हें सम्भालना होगा. आपके अन्दर वो क़ाबलियत है की आप ऐसा कर पाएंगे, बस अपनी घबराहट को हटाकर ज़िन्दगी को एक नए नजरिये से देखना होगा.
क्या करें – अपने विचार लोगों पर ज़ाहिर करें और बातचीत करें. जो भी रास्ता निकलेगा उससे मदद जरुर मिलेगी. अपनी सूझबूझ को लोगों तक पहुचाने का समय है.
क्या न करें – अपने पैसे को फंसाए नहीं. रिस्क लेने के लिए यह समय अच्छा नहीं है. अपने ही लोगों से किसी भी तरह के झगडे को बढ़ने न दें.

मिथुन (Gemini) आपके मन की घबराहट आपकी पढाई लिखाई पर असर डाल सकती है. जो भी करना है इस समय उसे अपने दम पर करना है इसलिए अपनों से जुड़ने पर रास्ता साफ़ नजर आएगा.
क्या करें – घर-परिवार में खुशियाँ बनाये रखें. लोगों की सलाह और समर्थन ले लें. ऐसा करते हुए जो भरोसा जागृत होगा उसी से बात बनेगी.
क्या न करें – जब कोई मुश्किल आती है तो कई तरह की परेशानियाँ साथ आ जाती हैं. इसलिए वैचारिक मतभेद को बढायें नहीं ताकि झगडा न बढ़ जाए.

कर्क (Cancer) अगर पैसे की स्तिथि को लेकर बहुत खुश नहीं है तो इस बात को accept कर लें. वैसे भी पैसे से जुड़े फैसलों को बहुत ध्यान से ही लेना होगा. impulsiveness से गलती हो सकती है.
क्या करें – अगर मन में किसी यात्रा या बदलाव का विचार है तो उसे फिर सोच लें. उस विचार में शायद कोई गलती नहीं है लेकिन आपकी ज़ल्दबाज़ी कुछ ऐसी है जिसे थामना होगा. अपने मित्रों या चाहने वालो से सलाह ले लें ताकि पूरी बात समझ में आये.
क्या न करें – किसी प्यार के रिश्ते से जुडी परेशानियों को लेकर मन को दुखी न करें. ज़िन्दगी में कई चीज़ें accept करनी पड़ती हैं, इसलिए इस समय अपने मन को भटकायें नहीं.

सिंह (Leo) असंतोष बना रह सकता है जिसका असर यह है की काम में दिल नहीं लग रहा. यह ओर बात है की पैसे से जुडी जरूरतें पूरी होती रहेंगी, इसलिए व्यर्थ में चिन्ता लगाने की ज़रूरत नहीं है.
क्या करें – जो भी विकल्प उभर कर आ रहे हैं उनके बारे में सोच लें. उससे धन लाभ की स्तिथि बेहतर हो जायेगी, लेकिन अपने मन के भटकाव को तो फिर भी संभालना ही पड़ेगा.
क्या न करें – अपने मन की घबराहट का असर किसी प्यार के रिश्ते पर न आने दें. उसमे बहुत सारी अच्छाई है और अपनों का समर्थन भी इसलिए negatively बिलकुल न सोचें.

कन्या (Virgo) खर्चे या नुकसान की चिन्ता मन में बनी रहेगी. उसका असर आपकी बचत पर भी आ सकता है. फिर भी कोशिश करके उधार लेने से बचना होगा.
क्या करें – कामकाज की स्तिथि को ओर मज़बूत करना है उस अच्छाई को बनाये रखना है. इस प्रयास में अपनी involvement को ओर बढ़ाने की ज़रूरत है. लोगों से जो मदद मिल रही है उससे कई चीज़ें समझने में आसानी होगी.
क्या न करें – घर-परिवार से जुड़े challenges को नज़रअंदाज़ न करें. हर परिस्थिति अपने साथ समाधान की संभावनाएं भी लाती है. इस बात को नकारे नहीं.

तुला (Libra) पैसे की स्तिथि कुछ मध्यम हो सकती है लेकिन अच्छाई यह हैं की आप बहुत कुछ कर सकते हैं. आपके अन्दर वो क़ाबलियत है जिसे इस्तेमाल करने की ज़रूरत है.
क्या करें – इस बात को समझ ले की तकदीर आपका साथ देना चाह रही है. अब नए रास्ते भाग्यशाली रूप से खुल रहे हैं. अपने हालात को एक नयी नजर से देखने की ज़रूरत है.
क्या न करें – कोई बहुत बड़ी उम्मीद न लगायें इस वक्त, खासकर बदलाव को लेकर कोई ऐसा कदम न उठायें जिससे आपकी उम्मीदें पूरी न हों. वैसे भी पैसे को लेकर बहुत ज्यादा उम्मीदें लगाने का समय नहीं है.

वृश्चिक (Scorpio) कामकाज को लेकर थोडा मध्यम सा समय है, लेकिन जितना इस बात को accept कर लिया जाए उतना ही अच्छा है. मन को दुखी करके कोई फायदा होने वाला नहीं है.
क्या करें – इस बात से संतोष करें की पैसे की स्तिथि बहुत मददगार है. मन में कुछ चिन्ताएं हो सकती है लेकिन वो आपके मन की बनायीं हुई है. रोज़मर्रा के issues को सँभालने की जरूरत बनी रहेगी.
क्या न करें – कितना भी तनाव क्यों न हो विनम्रता का दामन बिलकुल न छोड़ें. कोई ऐसी बात न कहें जिससे किसी को ज़रा से भी दुःख लगे. बहुत संयम बनाये रखने की ज़रूरत है.

धनु (Sagittarius) इस समय की कमी यह है की आप व्यर्थ में बहुत ज्यादा उम्मीदें लगा रहे हैं. इस समय की अच्छाई यह है की अपनों से मिलकर जो खुशियाँ मिलेंगी वो भरपूर हैं, तो क्यों न खुशियों के रास्ते पर चला जाए.
क्या करें – लाभ सुनिश्चित है, अपनों का साथ बना हुआ है और लाभ की regualarity भी अब आगे बनती चली जायेगी. आप यह समझ लें की आपकी मेहनत के फलीभूत होने का समय आ गया.
क्या न करें – कुछ खर्चे ऐसे नजर आ रहे हैं जो wasteful हैं. ऐसे खर्चों को बढने न दें बल्कि अपनी बचत को भी इस समय खतरे में बिलकुल न डालें. आने वाले दो हफ्ते तक जब भी संभव हो मंदिर जाकर हनुमान जी की मूर्ति के आगे माथा जरुर टेकें.

मकर (Capricorn) मन उचाट रहेगा तो उसका असर आपके कामकाज पर आ सकता है. सेहत को लेकर भी आपकी चिन्ताएं कुछ बढ़ी हुई हैं जो बहुत ज्यादा वाजिब नहीं है.
क्या करें – बदलता हुआ समय है और बहुत कुछ आपके काबू में आ जाएगा. कामकाज की स्तिथि को भी आगे बढ़ाने में अब मदद मिलनी शुरू हो जायेगी. इस रूप से अब आगे बढ़ने की ज़रूरत है.
क्या न करें – ऐसा न सोचें की आप बहुत ज्यादा खर्च करके लोगों को खुश कर पायेंगे. घर-परिवार में जो दूरियां हैं उन्हें भी ओर बढ़ने न दें. अपने नुकसान की स्तिथि को बेकाबू न होने दें.

कुम्भ (Aquarius) आपकी प्राथमिकता कुछ भी हो लेकिन रिश्तों को संभालना जरूरी होगा. अगर लोगों के प्रति भरोसे की कमी होगी तो परेशानियाँ बढ़ सकती हैं. छोटी-छोटी बातें भी आपको stress करती रही हैं हाल में.
क्या करें – किसी प्यार के रिश्ते की परेशानियों से निकलने का समय आ गया है, लेकिन सिर्फ परेशानियाँ कम होंगी पूरा रास्ता खुलने में अभी भी समय लगेगा, इसलिए थोड़ी पेशेंस रख लें.
क्या न करें – कामकाज से बनते हुए लाभ को कम न समझें. उस अच्छाई को समझते हुए फैसले करने होंगे. यह समय किसी बड़े बदलाव के लिए अनुकूल नहीं है.

मीन (Pisces)घर-परिवार में सुख है लेकिन आगे उसे बनाये रखने की कोशिश आप ही को करनी है. अगर सेहत से जुडी कुछ परेशानियाँ है तो उन्हें भी सँभालने की ज़रूरत है.
क्या करें – घर-परिवार में छोटी-छोटी बातों को लेकर थोडा धैर्य रखें. अपनी ओर से अपनों से जुड़े रहना ही इस समय की प्राथमिकता है. रिश्तों को समझना भी होगा और संभालना भी होगा.

क्या न करें – कामकाज में पैसा लगाने की ज़रूरत पड़ सकती है लेकिन ऐसा करते हुए इतना भी उदारवादी न हो जाएँ की खर्चे सँभालने मुश्किल हों, खर्चा जरुर करें लेकिन उसे नुकसान में परिवर्तित न होने दें.

No comments:

Post a Comment

Please do not post any message with links. It will not be approved.