Consult

Jyotishguru Deepak Kapoor

at

Gurgaon

Send SMS to 9868463900

Giving your name

&

mobile number

Sunday, October 6, 2019

राशी 06 अक्टूबर 2019, रविवार
आज06अक्टूबर 2019 है और रविवार का दिन
श्री विक्रमी संवत 2076 है और शक संवत 1941
अश्विन मास चल रहा है और शुक्ल पक्ष
अष्टमी तिथि है सुबह 10 बजकर 54 मिनट तक और उसके बाद नवमी तिथि है.
पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र है दोपहर 03 बजकर 03 मिनट तक और उसके बाद उत्तराषाढ़ा नक्षत्र है.
चंद्रमा चल रहे हैं धनु राशी में और चंद्रमा मकर राशी में प्रवेश करेंगे रात 09 बजकर 36 मिनट पर.
आज श्री सरस्वती प्रत्यीर्थ बलिदान है दोपहर 03 बजकर 03 मिनट के बाद. श्री दुर्गाष्टमी महाअष्टमी है, महानवमी पूजा है.



महागौरी : मां दुर्गा का आठवां स्वरूप है

नवरात्रि में आठवें दिन महागौरी शक्ति की पूजा की जाती है। नाम से प्रकट है कि इनका रूप पूर्णतः गौर वर्ण है। इनकी उपमा शंख, चंद्र और कुंद के फूल से दी गई है। इनके सभी आभूषण और वस्त्र सफेद हैं। इसीलिए उन्हें श्वेताम्बरधरा कहा गया है। 4 भुजाएं हैं और वाहन वृषभ है इसीलिए वृषारूढ़ा भी कहा गया है इनको।

इनके ऊपर वाला दाहिना हाथ अभय मुद्रा है तथा नीचे वाला हाथ त्रिशूल धारण किया हुआ है। ऊपर वाले बांए हाथ में डमरू धारण कर रखा है और नीचे वाले हाथ में वर मुद्रा है। इनकी पूरी मुद्रा बहुत शांत है। पति रूप में शिव को प्राप्त करने के लिए महागौरी ने कठोर तपस्या की थी। इसी वजह से इनका शरीर काला पड़ गया लेकिन तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने इनके शरीर को गंगा के पवित्र जल से धोकर कांतिमय बना दिया। उनका रूप गौर वर्ण का हो गया। इसीलिए यह महागौरी कहलाईं।

यह अमोघ फलदायिनी हैं और इनकी पूजा से पूर्वसंचित पाप नष्ट हो जाते हैं। महागौरी का पूजन-अर्चन, उपासना-आराधना कल्याणकारी है। इनकी कृपा से अलौकिक सिद्धियां भी प्राप्त होती हैं।

नियम यह है की आश्विन मॉस की शुक्ल पक्ष की उदयव्यापिनी अष्टमी के दिन अगर नवमी सूर्यास्त से पहले शुरू हो जाये तो अष्टमी और नवमी की पूजा एक ही दिन की जाएगी, अतः आज अष्टमी होते हुए भी नवमी की पूजा आज ही के दिन की जाएगी क्योंकि आज अष्टमी है सुबह 10:54  तक और उसके बाद नवमी चल रही है सूर्यास्त के बाद तक.

सिद्धिदात्री : मां दुर्गा का नौवां रूप है, इस देवी की पूजा नौंवे दिन की जाती है।
भगवान शिव ने भी इस देवी की कृपा से यह तमाम सिद्धियां प्राप्त की थीं। इस देवी की कृपा से ही शिवजी का आधा शरीर देवी का हुआ था। इसी कारण शिव अर्द्धनारीश्वर नाम से प्रसिद्ध हुए।

इस देवी के दाहिनी तरफ नीचे वाले हाथ में चक्र, ऊपर वाले हाथ में गदा तथा बायीं तरफ के नीचे वाले हाथ में शंख और ऊपर वाले हाथ में कमल का पुष्प है। इनका वाहन सिंह है और यह कमल पुष्प पर भी आसीन होती हैं।

अणिमा, महिमा, गरिमा, लघिमा, प्राप्ति, प्राकाम्य, ईशित्व और वशित्व आठ सिद्धियां होती हैं। इसलिए इस देवी की सच्चे मन से और विधि विधान से उपासना-आराधना करने से यह सभी सिद्धियां प्राप्त की जा सकती हैं।

यह अंतिम देवी हैं। इनकी साधना करने से लौकिक और परलौकिक सभी प्रकार की कामनाओं की पूर्ति हो जाती है। इनकी कृपा से कठिन से कठिन कार्य भी चुटकी में संभव हो जाते हैं।


मेष (Aries) खुद पे भरोसा भी है और गलतियों भरा समय भी है क्योंकि आपसी तकरार की वजह से आप लोगों से दूर हटते चले जा रहे हैं. मन में बिठाए बहुत सारे ऐसे भ्रम हैं जो शायद उतने वाजिब नहीं हैं.
क्या करें –कामकाज के प्रति भरोसा बनाए रखने का समय है. कामकाज को लेके जो पहले मुश्किलें बनी रही थीं अब वो भी धीरे-धीरे हटती चली जा रही हैं और आपका भरोसा लौट रहा है. जिंदगी हम सबको किसी न किसी रूप में जीने का मौका भी देती है.
क्या न करें –हालात जरूर सुधर रहे हैं लेकिन कोई भी कदम जल्दबाजी में बिल्कुल न उठाएं. अपनी इच्छाओं को इतना भी न बढ़ाएं कि आपको नाकामी का मुँह देखना पड़े.

वृषभ (Taurus)कई तरह के तनाव झेलने पड़ रहे हैं. रिश्तों में नजदीकीयां बनाना चाह रहे हैं पर बात उस रूप से नहीं बन पा रही जैसे कि आप चाह रह हैं इसलिए कोई प्यार का रिश्ता अभी डगमगा रहा है.
क्या करें –अपने व्यवहार को धीमा करने की जरूरत है. अपने साथी-सहयोगियों से किसी भी तरह की अनबन पैदा करते चलते जाने से भी बचना होगा. लोगों की बात को ज्यादा समझने की कोशिश करेंगे तो हालात आपके पक्ष मे बनते चले जाएंगे पर ऐसा करने के लिए थोड़ा सा समय लगेगा.
क्या न करें –लोगों की इच्छाओं को पूरा करने की कोशिश जरूर करें लेकिन साथ ही साथ उन चुनौतियों को भी समझें जो साथ ही साथ खड़ी हैं, ऐसे में व्यर्थ में अपना नुकसान करते चले जाना भी ठीक नहीं.

मिथुन (Gemini)जिंदगी की खुशियों को बनाए रखने के लिए आपको थोड़ा सी ज्यादा ही कोशिश करनी पड़ेगी. लोगों की आलोचना के बावजूद आपको रिश्तों की ओर ज्यादा ध्यान देना होगा और ऐसा करने के लिए मन में बिठाई हुई घबराहट को तो हटाना ही पड़ेगा.
क्या करें –आपकी परेशानियों का एक बड़ा कारण यह भी है कि आप व्यर्थ की बहस में पड़ते चले जा रहे हैं पर अपने लिए मुश्किलें बढ़ाते चले जा रहे हैं अगर ऐसे ही चलता रहा तो लोगों को आपके लिए कुछ और सोचने के लिए मजबूर होना पड़ सकता है.
क्या न करें –कामकाज की स्थिति को संभाले रखना है तो रिश्तों को किसी भी वजह से बिगड़ने न दें आपके साथी-सहयोगी जो आपके साथ काम करते हैं, उनके भी अपने विचार हो सकते हैं इसलिए उनके खिलाफ सोचते चले जाना भी ठीक नहीं.

कर्क (Cancer)आप हर रूप से अपनी बात कहने की और मनवाने की कोशिश कर रहे हैं पर उस प्रयास में खुद दुःखी होते चले जा रहे हैं क्योंकि लोगों के दिल को जीतना इस समय मुश्किल हो सकता है फिर भी ध्यानपूर्वक सोचे तो घर-परिवार का सुख बना हुआ है.
क्या करें –अपने मन में किसी भी तरह का अविश्वास पैदा करते चले जाने से बचना होगा. हालात को संभाले रखने के लिए भरोसा तो करना ही पड़ेगा और अपने मन में उभरते हुए तूफान को भी थामना होगा.
क्या न करें –रिश्तों से जुड़ी मुश्किलों को समझने में कोई गलती न करें. जो दुरियां किसी गलतफहमी की वजह से बन गई थीं उन्हें नजदीकियों में बदल लें पर अपने मन में बिठाई हुई बीती बातों को हटा दें ताकि पुरानी बातों की वजह से आज की स्थिति को संभालने में कोई कमी न आए.

सिंह (Leo)हर एक के लिए आप अच्छा सोचते हैं पर अच्छा करना भी चाह रहे हैं पर अपने व्यवहार में थोड़ी सी मधुरता लाने की जरूरत है ताकि लोग आपकी बात को भली-भाँति समझ सके और आपसे जुड़ सके, ऐसे में निजी जीवन में अपनों के प्रति सूझबूझ बनाए रखना बहुत जरूरी होगा.
क्या करें –किसी प्यार के रिश्ते को भरोसे की नजर से देखना होगा और किसी भी तरह की गलतफहमी में पड़ते चले जाने से बचना होगा. किसी भी रिश्ते की नींव भरोसा ही होता है इसलिए भरोसे को बनाए रखना बहुत जरूरी होगा.
क्या न करें –जिंदगी की किसी भी तरह की चुनौती का असर अपने घर-परिवार के रिश्तों पर बिल्कुल न आने दें. अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर करने के भी लिए अपने मन में प्रेरणा जगाए रखें. धीरे-धीरे सबकुछ ठीक होता चला जाएगा, ऐसा ही कहते हैं आपके तारे.

कन्या (Virgo)मुश्किल भरा समय है. किसी भी तरह की कोशिश को बनाए रखने के लिए लोगों से विचार-विमर्श करने से फायदा हो सकता है, वो इस वजह से भी क्योंकि आप अपनी हर बात में सूझबूझ दर्शा पाएंगे. कामकाज से लाभ बना हुआ है पर किसी भी तरह के लाभ को बचाए रखना सबसे बड़ी चुनौती है.
क्या करें –जिंदगी में कुछ भी करने या पाने के लिएबहुत सारे संयम की जरूरत पड़ती है. इस समय आपका असंतोष आपके ऊपर हावी होता चला जा रहा है जिसे संभाले रखने की जरूरत है. आपसी तालमेल बनाए रखने के लिए किसी भी तरह के मतभेद से बचना होगा.
क्या न करें –लोगों की वजह से अपने चुने हुए रास्ते को बदलने की कोशिश न करें. किसी भी वजह से अपनी कोशिशों को कम करते चले जाना ठीक नहीं है क्योंकि वो भी किसी न किसी तरह के नुकसान का कारण बन जाता है. किसी प्यार के रिश्ते में भी कमियां ढ़ूंढ़ते चले जाना ठीक नहीं.

तुला (Libra)आपकी कोशिशें अच्छी हैं पर किसी ओर की वजह से आपको नुकसान हो सकता है इसलिए भी अपने पैसे की स्थिति को संभाले रखने की जरूरत पड़ सकती है. अपनी बचत को संभाले रखने के लिए बहुत सारी सूझबूझ बनाए रखनी की जरूरत पड़ेगी.
क्या करें –किसी भी बड़ी योजना को अंजाम देने के लिए ज्यादा पैसे की जरूरत पड़ सकती है, ऐसे में ज्यादा पैसा जुटाते चले जाने से बचना होगा क्योंकि वो भी किसी न किसी रूप से नुकसान में परिवर्तित होता चला जाए, ऐसा बहुत हद तक संभव है.
क्या न करें –अपनी काबिलियत को किसी कमी की नजर से न देखें. कहीं ऐसा न हो कि उसका बुरा असर यह पड़े कि आपकी एकाग्रता कम होती चली जाए पर इस समय की सबसे बड़ी हिदायत यह है कि किसी को कोई ऐसी बात न कहें जो किसी के दिल को चुभ जाए और उस वजह से आप ही का नुकसान होता चला जाए.

वृश्चिक (Scorpio)कामकाज के प्रति आपका समर्पण अच्छा है पर अपने पैसे का नुकसान करते चले जाने से बचना होगा पर इस समय की सबसे बड़ी परेशानी यह है कि आप खुद अपना नुकसान करते चले जा रहे हैं जिसे बचाए रखने की जरूरत है.
क्या करें –अपनी काबिलियत को इस्तमोल करने के मौके भी कभी-कभी मिला करते हैं जिसके चलते आर्थिक स्थिति में इजाफा हो सके इसलिए बहुत सारी ऐसी योजना बनाने की जरूरत है जो दूर तक आपका साथ निभाए.
क्या न करें – किसी भी वजह से अपनों से तालमेल न कम न होने दें. अगर रोजमर्रा के दबाव बने भी हुए है तो भी अपनी घबराहट को बढ़ाते न चले जाएं. कामकाज के क्षेत्र में कोई ऐसा मतभेद न उभरने दें जिसकी वजह से आप ही का नुकसान होता चला जाए.

धनु (Sagittarius) तकदीर को आजमाने के प्रयास में आपको लगेगा कि आप सही फैसला ले रहे हैं पर यह समय आपकी गलतियों की ओर इशारा कर रहा है इसलिए कोई भी कदम उठाने से पहले फिर से सोच लेने की जरूरत है.
क्या करें – किसी भी तरह के स्थान-परिवर्तन से फिलहाल बचना होगा और बहुत सारी एकाग्रता बनाए रखने की कोशिश करनी होगी. जिंदगी की स्थिरता भी बनी रहे तो भी बहुत कुछ हासिल किया जा सकता है ओर यह भी बहुत बड़ी बात है.
क्या न करें – किसी भी नए विकल्प को न तो एकदम मान लें और न ही उसे पूरी तरह से खारीज करें बल्कि उसके बारे में मनन कर लें पर ऐसा करते हुए अपने दिल की आवाज को जरूर सुनें, कहीं ऐसा न हो कि आपकी ओर से गलती होती चली जाए.

मकर (Capricorn) कामकाज की स्थिति ठीक है पर पैसे को संभालने के लिए बहुत ज्यादा मशक्कत करनी पड़ेगी क्योंकि पैसे का कहीं न कहीं फंस जाने का योग है इसलिए आपको अपनी उत्तेजना पे काबू पाना होगा ताकि किसी भी स्थिति को सही रूप से संभाला जा सके.
क्या करें – कामकाज के प्रति अपनी तवज्जो बनाए रखें और बाकी सारी बातों को फिलहाल टाल दें. पैसे से जुड़े किसी फैसले को स्थगित कर दें ताकि नुकसान की स्थिति से बचा जा सके.
क्या न करे –कोई ऐसी बात न कहें जो किसी के दिल को दुखाए और जिसकी वजह से लोग आपसे हटते चले जाएं. मुश्किल भरे दौर में संभलकर चलना बहुत जरूरी होता है.
आज के दिन में खास मकर राशी वालों के लिए आज के दिन में खास यह है जी कि पैसों को लेके मुश्किलों भरा दौर है फिर भी किसी न किसी तरह का बचाव बना हुआ है पर इसका यह मतलब नहीं है कि आप जानबूझकर कोई ऐसा कदम उठाएं जो आपको मुश्किलों में डालता चला जाए.

कुंभ (Aquarius) लोगों से मनमुटाव रहेगा तो कामकाज की स्थिति को संभालना भी मुश्किल हो जाएगा क्योंकि किसी भी चुनौती को संभालने के लिए थोड़ा सा तालमेल बनाए रखने की जरूरत पड़ सकती है.
क्या करें –पैसे के लेन-देन को भली-भाँति समझना होगा और उसे संभालने के लिए अपने नुकसान पे पहले नजर रखनी होगी. यह जिंदगी का ऐसा दौर है जो भाग्यशाली जरूर है पर फिर भी बचाव बनाए रखना ज्यादा जरूरी है.
क्या न करें –रोजमर्रा के खर्चों को बढ़ाते चले जाना ठीक नहीं और अपने मन को भटकाते चले जाना और भी खराब है क्योंकि कोई भी स्थिति आपके असंतोष से बिगड़ सकती है इसलिए अपनी मुश्किलों को हवा देना ठीक नहीं है.

मीन (Pisces) हालात हर तरह से मददगार हैं पर लोगों की नाराजगियां सहनी पड़ सकती हैं और इस वजह से लोगों से तालमेल बिगड़ता चला जाए यह बहुत हद तक संभव है, आपकी अच्छाई के बावजूद यह कमी नजर आ रही है जिस ओर थोड़ा सा ध्यान देना होगा.
क्या करें –कामकाज की स्थिति ऐसी है जिस ओर अपना प्रदर्शन को बढ़ाने की जरूरत पड़ सकती है और ऐसा करते हुए उसमें ज्यादा पैसा लगाने की भी जरूरत पड़ सकती है तो बहुत सारे दबाव ऐसे हैं जो एक साथ उभर रहे हैं जिसके लिए सही योजना बनानी होगी.

क्या न करें –किसी बड़े परिवर्तन का विचार न बनाए क्योंकि उसके पीछे छुपा हुआ नुकसान हो सकता है इसलिए बहुत सारी चीजों को धैर्य के रूप से संभालने की कोशिश कर लें. व्यर्थ में किसी अच्छी-भली स्थिति को बिगाड़ लेना भी ठीक नहीं. 

No comments:

Post a Comment

Please do not post any message with links. It will not be approved.